Kill Addction Nasha Sharab Mukti Dava - नशा मुक्ति की दवा

नशा मुक्ति Ayurvedic Medicine...
आज हमारे सामने एक सबसे बड़ी सामाजिक समस्या पैदा हो रही है, युवाओं  को नशे का शिकार होना. जो कल के होने वाले देश के जांबाज कर्णधार हैं आज वही सबसे ज्यादा नशे के शिकार हैं. जिनको देश की उन्नति में अपनी उर्जा लगानी थी वो आज अपनी अनमोल शारीरिक और मानसिक उर्जा चोरी, लूट-पाट और मर्डर जैसी सामाजिक कुरीतिओं में नष्ट कर रहे है.आज का ९० प्रतिशत युवा नशे का शिकार है. जिस तरह से टेक्नोलाजी विकसित हुई है, ठीक उसी तरह से नशे के सेवन में भी नई टेक्नोलाजी विकसित हुई है.



https://zeroaddiction.blogspot.com/p/order-now-online.html




आज का युवा शराब का इस्तेमाल नशे के रूप में कर रहा है. इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि आसानी से युवाओं की पहुँच में हैं, इस बुराई के सबसे बड़े जिम्मेदार सिर्फ हम और आप है. आज की चकाचौंध भरी जिंदगी में हम इतने स्वार्थी हो गए हैं कि हमे यहाँ तक ख्याल नहीं रहता कि हमारा बच्चा किस रास्ते पर जा रहा है, क्या कर रहा है कोई परवाह नहीं. बस बच्चे कि ख्वाहिशें पूरी करते जा रहे हैं. आज हमे पैसे कि लालच ने इतना अंधा कर दिया है कि हम सामाजिक बुराइयों को जन्म देने में जरा भी नहीं हिचकते. समाज के इस सबसे बड़ी बुराई को दूर करने के लिए सबसे पहले हमे जागरूक होना होगा फिर प्रशासन को. हमे लालच जैसी लाइलाज बीमारी को अपने अन्दर से निकल फेकना होगा, नहीं तो यह कुरीति धीरे-धीरे एक दिन हमें हमारे पुरे समाज को फिर हमारे इस पुरे सुन्दर भारत को खा जायेगा फिर हमारा दुनिया में कोई भी अस्तित्व नहीं रह जायेगा.

  रक्त में शराब की मात्रा से शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव...

रक्त में शराब की मात्रा
शरीर पर पड़ने वाले प्रभाव
0.02
मामूली मन परिवर्तन
0.06
तर्क शक्ति कम होना, निर्णय क्षमता ख़त्म होती हुई
0.1
नशे में प्रतिक्रिया करना, नियंत्रण की गिरावट आना.
0.15
बिगड़ता संतुलन, आंदोलन के विचार और समन्वय में कठिनाई खड़ी होना झूमना
0.2
दर्द और संवेदना में कमी , अनिश्चित भावनाओं का विकास
0.3
कम सजगता, अर्द्ध सचेत
0.4
चेतना की कमी, शून्य सजगता
0.5
मौत










    शराब के अन्य घातक प्रभाव...     

हालांकि शराब आप को खुशी की भावना और होश दे सकता है, दवा केंद्रीय तंत्रिका तंत्र की प्रतिक्रियाओं को धीमा कर सकता है, और अंततः नशे के दौरान मूर्च्छा , एक व्यक्ति का रक्तचाप, नाड़ी, संचार और नर्वस सिस्टम के रूप में और श्वसन में कमी आती है. यदि आप थके हुए हैं और शराब पीते है, तब यह और भी हानिकारक हो सकता है और यह आपकी मौत का कारण भी बन सकता है. इससे शरीर की बीमारी बढ जाती है और बीमारी से लड़ने की क्षमता कमजोर पढ़ जाती है. शराब में अवशोषण और खून में पोषक पदार्थों की कमी हो जाती है. इसलिए हमारा आपको सुझाव है की यदि आपको किसी प्रकार के नशे की आदत है तो तुरंत ही उसे छोड़ दे अन्यथा आप कई और बुरे रोगों में ग्रस्त हो सकते हैं तथा इसकी लत अधिक हो जाने के कारन आपको गुर्दे का कैंसर तथा आपको मौत का सामना भी करना पड़ सकता है! भारी शराब की खपत पर प्रतिकूल अपने शरीर में हर अंग को प्रभावित कर सकते हैं. वहाँ एक बहुत ही बीमारियों और विकारों भारी पीने के साथ जुड़ा की लंबी सूची है, और उनमें से कुछ हैं:
·       गुप्तांगो से ख़ून का बहाव
·       उच्च रक्तचाप
·       हृदय रोग
·       हैपेटाइटिस
·       पेट, मुख, स्तन, जिगर आदि का कैंसर
·       रक्ताल्पता
·       अस्थि मज्जा दमन
·       अल्सर
·       अग्नाशयी
·       यौन रोग
·       नींद का न आना

Kill Addction Ayurvedic medicine एक सफल व सुरक्षित नशा मुक्ति का इलाज है !
अपनी नशे की आदत को आज ही अलविदा कहे !
 Alcohol Kill Addction nasha mukti dava Ayurvedic medicine के लाभ
·       यह 100% प्राकृतिक Ayurvedic medicine  है
·       यह Ayurvedic medicine शुद्ध जड़ी बुट्यों से निर्मित किया गया है
·       इसका कोई सहप्रभाव भी नहीं है
·       यह नशे की लत को बहुत ही सरलता के साथ समाप्त करता है
·       अब तक लाखो लोग इसके प्रयोग से लाभ उठा चुके हैं
·       इसके द्वारा नशे का सेवन करने वाले व्यक्ति को बिना बताए उसकी नशे की आदत छुड़ा सकते हैं
 सवाल और जवाब 
·       Kill Addction nasha mukti dava Ayurvedic medicine क्या हैं?
Alcohol Stop Ayurvedic 
medicine शराब, रम, व्हिस्की आदि की लत को समाप्त करने के लियें पूरी तरह उपयोगी है. यह इन सभी बुरी आदतों में लगे व्यक्ति को एक नया जीवन देता है.
·       क्या इस दवाई का कोई सह-प्रभाव भी है ?
नहीं, इस दवा के Ayurvedic होने के कारण अब तक कोई दुष्प्रभाव सामने नहीं आया है. Alcohol Stop Ayurvedic 
medicine 100% जड़ी बूटीयों पर आधारित है तथा यह प्रयोग करने के लियें बहुत अधिक सुरक्षित है
·       Kill Addction nasha mukti dava Ayurvedic medicine में कौन सा रसायन प्रयोग किया जाता हैं?
यह एक Ayurvedic उत्पाद है जिसमे किसी भी प्रकार का कोई रसायन प्रयोग नही किया जाता है इसमें केवल उपयोगी एवं कीमती जड़ी बूटियों का प्रयोग किया जाता है जो कि विश्व के विभिन्न भागों से लायी जाती हैं
·       मेरा आर्डर देने के कितने दिन के बाद मुझे यह प्राप्त हो जाएगा?
आप आर्डर देने के 7 -10 दिनों के पश्चात् ही अपना पार्सल प्राप्त कर सकते है.
·       पैकेज विचारशील है?
हाँ, सभी आदेश विचारशील पैकेजिंग में भेजे जाते है.
·       Kill Addction nasha mukti dava Ayurvedic medicine का उपयोग करते हुए कितने समय के बाद परिणाम दिखाई पड़ते हैं?
जब आप Alcohol Stop Ayurvedic 
medicine का उपयोग कर कुछ दिनों में आप अपनी चेतना में वृद्धि महसूस करते हैं. दो महीने के इस्तेमाल करने के बाद, दर्द और संवेदना, अनिश्चित भावनाओं की कमी होने लगती है
·       Kill Addction nasha mukti dava Ayurvedic medicine हर एक के लिए प्रभावी है?
यह एक
 Ayurvedic उत्पाद है इस को 18-50 साल तक की उम्र के सभी पुरुषों और महिलाओं जिनको शराब की आदत है Kill Addction nasha mukti dava पुरुषों और महिलाओं के लिए एक वरदान साबित हुई है.
·       इसका उपयोग कैसे करते हैं ?
व्यक्ति को बिना बताये देना हैं उसको भोजन में Kill Addction nasha mukti dava Ayurvedic medicine को मिलकर व्यक्ति को देना है.



https://zeroaddiction.blogspot.com/p/order-now-online.html

This Amazing Product... (Zero Addiction Powder)

Zero Addiction is an ayurvedic remedy for any kind of drug addiction. It can be smoking drinking and similar other product that can affect various body parts. According to national cancer institute addiction to such harmful substances can lead to the cancers of the mouth, esophagus, pharynx, larynx, liver in men and of breast cancer in women. Addiction to alcohol, cigarette and tobacco is dangerous for your health. The treatment can lead to various difficulties.



The addiction is a type of mental disorder where patients with the property of tamas (Inertia of mind) suffer from rajas or mental disturbances. In addiction it is important to calm down patients mind.

Another property in human is Vata (air properties of human body). The problem with such people arises due to the human need of smoking to calm down anxiety and get distracted from worries.
Pitta (fire properties in human body) is the other human condition where man gets addicted to the fire properties just to feel more powerful.

People with Kapha (Water properties of human body) property like the stimulating power of tobacco and get addicted to it.



Zero Addiction Herbal Powder is the safe herbal product. It is the mixture of 17 precious ayurvedic herbs that make it more beneficial. It contains Kudzu (Vidarikand), one of the main ingredients which is used worldwide for alcoholism and is widely researched for its great benefits. The product is the perfect cure for the people addicted with alcohol, cigarette, tobacco etc. It is a 100% herbal product and has no side effect. It helps in curing addiction to any health condition of the person. It is an amazing powder that can be used for long time period and provides various health benefits. 



What Are The Benefits Of Zero Addiction Herbal Powder?

  • Zero Addiction Powder is 100% herbal. It causes no side effects.
  • The product is healthy, safe and effective for person who is addicted with smoking, drinking, alcohol and similar other habits.
  • There are no strict guidelines to take the medicine. You can take it any time twice a day.
  • The product is natural and easy to use.
Delivery In All Major Cities in India & International Locations.



USA, Australia, Canada,Europe, Dubai, Singapore, Sri Lanka, Nepal, Middle East.... 
Mumbai, Delhi, Bangalore, Kolkata, Chennai, Hyderabad, Ahmedabad, Jaipur, Lucknow, Patna, Bhopal, Srinagar, Ranchi, Chandigarh, Bhubaneswar, Thiruvananthapuram, Raipur, Dehradun, New Delhi, Imphal, Pune, Surat, Kanpur, Nagpur, Indore, Thane, Ludhiana, Agra, Nashik, Vadodara, Faridabad, Ghaziabad, Rajkot, Meerut, Navi Mumbai, Amritsar, Varanasi, Aurangabad, Allahabad, Visakhapatnam, Mysore, Jodhpur, Guwahati, Coimbatore, Gwalior, Bareilly, Moradabad, Gorakhpur, Bhilai, Jamshedpur, Amravati, Bikaner, Kochi (Cochin), Siliguri, Kolhapur, Jammu, Ajmer, Durgapur, Saharanpur, Noida, Ujjain, Udaipur, Tirupur, Jhansi, Muzaffarnagar, Mathura, Muzaffarpur, Patiala, Rohtak, Hisar, Firozabad, Panipat, Bilaspur, Alwar, Darbhanga, Rampur, Sonipat, Kurnool, Hapur, Deoli, Tirupati, Bathinda, Raichur, Loni, Dhanbad, Rewa, Pali, Maharashtra, Karnataka, West Bengal, Tamil Nadu, Andhra Pradesh, Gujarat, Uttar Pradesh, Rajasthan, Bihar, Madhya Pradesh, Punjab, Haryana, Jharkhand, Chandigarh, Karnataka, West Bengal, Rajasthan, Assam, Tamil Nadu, Orissa, Kerala, Chhattisgarh, Orissa, Uttarakhand, Jammu and Kashmir, Mizoram, Puducherry, Manipur & more..............